Mummy maan jao

“मम्मी फिर भी न मानेगी”

शिमला से पटना दूर सही
और उम्र से हम मजबूर सही
तुम  हो सोनिया महारानी सी
और मैं अन्ना की ललकार नहीं
फिर भी स्वित्ज़रलैंड से ब्लैक मनी
मैं इंडिया ले कर आऊँगा
मम्मी फिर भी न मानेगी
माना की सर में  बाल नहीं
और खीसे में  भी माल नहीं
मैं फेसबुक का आईपीओ नहीं
नॉन-प्रोफिट का अदना हिस्सा हूँ
फिर भी अपनी शादी में मैं
सलमान रश्दी को बुलवा लूँ गा
मम्मी फिर भी न मानेगी
हम कूल नहीं, तुम कूल सही
और काम में तुम  मशगूल सही
सब चोरों को तो बेल मिले
और हम दोनों का मेल नहीं
मैं २जी  घोटाले में
मनमोहन से बुलवा दूंगा
मम्मी फिर भी न मानेगी
माना ये देश महान नहीं
और इटली की सरकार यहीं
वोह राहुल हमारा प्रिन्स है
यह  जनता को कन्विंस नहीं
गांधी नाम के ओनरशिप
मैं फिर हम सबको दिलवा दूंगा
मम्मी फिर भी न मानेगी
यह जात पात के बातें तो
वोट पाने के बाते हैं
ब्राह्मण राजपूत से पहले तो
यहाँ इंसानों के नाते हैं
इस प्यार व्यार के चक्कर में
मैं  इंसान बन जाउंगा
मम्मी फिर भी न मानेगी
ओ मेरी मम्मी मान भी लो
नन्हे बालक  के जान ना लो
यह लडकी बहुत स्वीट सी है
इस का यूँ इम्तिहान ना लो
जो आप कहो मंज़ूर हमें
अगर  प्रणव ममता से दूर रहे
इस कोलीशन के पोलिटिक्स में
बस जनता ही मजबूर लगे
हम सब साथ मिलकर
सच्चा स्वराज्य ले आयेंगे
मम्मी अब तो मानो गी
Advertisements

One thought on “Mummy maan jao

  1. Wah Wah Rahul Zi, kya likha hai. Aap to hamein Mausi maan jao of Sholay fame tak le gaye hain. I certainly hope Mummy maan jati hai, but remember at times we get what we wish for… enjoyed reading the same.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s